सर्दियों के लिए कुछ खास टिप्स

सर्दी आते ही लोग गर्म कपडे पहनने शुरू कर देते हैं और बाहर निकलना कम कर देते हैं खासकर सुबह और शाम में कम ही लोग ही लोग बाहर घूमने निकलते हैं | शर्दियाँ अपने सासफाई करके ही सर्दी के खतरों को नहीं टाला जा सकता | खुश रहकर भी सर्दी में होने वाले खतरों को टाला जा सकता है | खुश रहकर आप न केवल अपने आसपास वालो के लिए माहौल अच्छा बनाते हैं ,बल्कि सर्दी -जुकाम जैसी समस्यााओं से भी बच जाते हैं |👍

Image result for sardiyon ke liye kuch khas tips

कम सोने से हो सकता है सर्दी जुकाम

नींद पूरी न होने पर बीमार महसूस करने लगते हैं लोग –

कम नींद लेने  सर्दी जुकाम का खतरा बढ़ जाता है | एक ताजा अध्ययन में यह खुलासा किया गया | कार्नेगी मेलन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने पाया कि जो लोग सात घंटे से कम सोते हैं या गहरी नींद नहीं लेते उन्हें सर्दी जुकाम का खतरा तीन फीसदी बढ़ जाता है |

शोधकर्ताओं के मुताबिक नींद का सीधा संबंध इंसान की रोग प्रतिरोधक क्षमता की मजबूती से है | यही कारण है की कम नींद लेने पर लोग बीमार पढ़ जाते हैं

– जुकाम के प्रमुख कारण यहाँ बताये गये है |

  •  रोगप्रतिरोधक क्षमता का कम हो जाना |
  •  वायरस व बैक्टीरिया से इन्फेक्शन हो जाना |
  •  सर्दी से बचाव न कर पाना |
  • कोई बहुत ठंडी चीज खा लेना |
  •  ठंडा, गरम हो जाना|
  •  धुल, धुंए से एलर्जी हो जाना | 👍

– जुकाम को पहचानने के प्रमुख्य लक्षण |

  •  सिर दर्द शुरू हो जाना |
  •  बदन दर्द शुरू हो जाना |
  •  नाक का बंद हो जाना |
  •  नाक बहने की समस्या होना |
  • सर्दी होने पर गले में खराश का हो जाना |
  •  व्यक्ति को हल्का बुखार होना |
  •  लगातार छींके आना | 👍

– जुकाम दूर करने के आसान उपाय |

  • ठंडा पानी न पीये |
  • गंदे स्थानों पर जाने से बचे |
  • गरम कपड़ो का उपयोग करे |
  • गर्म सूप पीये |
  • अदरक की चाय का प्रयोग करे |
  • नमक का गरारा करे |
  • हल्दी वाला दूध पीये | 👍

सर्दी से मुकाबले के लिए तैयार करें त्वचा को

सर्दी का मौसम शुरू होते ही हमरी त्वचा का निखार कम होने लगता है | त्वचा रूखी ,बेजान ,निस्तेज और कांतिहीन होकर कोमलता खो देती है | उसी का असर त्वचा पर प्री -मेच्योर एंजिंग शुरू हो जाना | सर्द हवाओं का असर त्वचा पर रूखेपन के रूप में दिखाई देता है ,लेकिन उससे  भी कहीं ज्यादा इसका असर त्वचा की पहली परत यानी एपिडर्मिस पर भी पड़ता है |

हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय बता रहे हैं, जो सर्दी में आपकी त्वचा को कोमल और खूबसूरत बनाने में मददगार साबित होगी |

  •  साबुन का इस्तेमाल करने से बेहतर है कि सरसों के उबटन का इस्तेमाल करें |
  •  नहाने के बाद हल्के हाथों से तौलिए का इस्तेमाल करें |  संभव हो तो नहाने के तुरंत बाद नारियल के तेल से या किसी ऑयली बॉडी लोशन से पूरे शरीर पर मसाज करें |
  • सर्दियों में त्वचा की कोमलता बनाए रखने के लिए बादाम के तेल का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद साबित होता है | बेहतर फायदे के लिए आप चाहें तो रात के वक्त तेल लगाकर सो जाएं |सुबह उठने पर आप पाएंगे कि आपकी त्वचा का मॉइश्चर अब भी बरकरार है |
  •  फटे होंठ और त्वचा को कोमल बनाने के लिए रोजाना सोने से पहले मलाई में गुलाब जल और नींबू का रस मिलाकर मसाज करें इससे आपका चेहरा और होठ मुलायम और चमकदार बने रहेंगे |
  • ग्लिसरीन में गुलाब जल और नींबू का रस मिलाकर रोजाना लगाने से त्वचा कोमल बनने के साथ निखरती भी है और चेहरा खूबसूरत दिखता है |
  • त्वचा को नरम और मुलायम बनाने के हमें मूंग की दाल का पेस्ट में दूध मिलाकर हफ्ते में दो बार नहाने से पहले लगाएं ,फिर चेहरे को साफ पानी से धों लें ,इससे हमारी त्वचा चमकदार भी बनती है |
  • रोजाना नारियल के तेल से मालिश करने से भी त्वचा में कोमलता और निखार आता है व नरम त्वचा हो जाती है |
  • बाजार में बिकने वाले स्क्रब के स्थान पर चीनी और टमाटर ,बेसन ,दूध को मिलाकर एक स्क्रब बना लें और इस स्क्रब का इस्तेमाल करें. इससे डेड स्‍क‍िन तो साफ हो ही जाएगी. साथ ही आपके चेहरे का मॉइश्चर भी बना रहेगा |
  • चेहरे पर विटामिन e युक्त क्रीम का इस्तेमाल करें | मॉयस्चराइजर का प्रयोग नियमित रूप से करें |
  • त्वचा को मुलायम बनाने के लिए रात के समय एंटी रिंकल क्रीम लगायं |
  • हफ्ते में एक बार एक्यूफोलियशन कराएं | इसके बाद कंडीशनिंग कराना ना भूलें |
  • चेहरे को हल्के  हाथों से साफ़ करें | सर्दियों को त्वचा को मृत कोशों को हटाने के लिए तेजी के साथ साथ ,जल्दी -जल्दी स्क्रब न करें | विशेष तौर पर रूखी त्वचा वाली ऐसा करने से बचें | ताकि झुर्रियां न पड़ें |👍

गर्भावस्था में सर्दी जुकाम से कैसे बचें

गर्भावस्था के दौरान आपका इम्यून सिस्टम धीमी गति से काम करता है जिसके कारण आप सर्दी जुकाम के वायरस के संपर्क में आ जातें हैं।

सामान्य समय में आप सर्दी-जुकाम से राहत पाने के लिए दवाईयां ले सकते हैं लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान आप हर तरह की दवाईयों का सेवन नहीं कर सकते क्योंकि उनके दुष्प्रभाव का डर होता है। इसलिए बेहतर होता है कि आप खुद को इससे बचा कर रखें। क्या आप जानते हैं कि गर्भावस्था के दौरान सर्दी-जुकाम किन कारणों से होता है और इससे राहत पाने के लिए आप क्या कर सकती हैं? आईये हम आपको बताते हैं गर्भावस्था में सर्दी से कैसे बचाएं खुद को |

-गर्भावस्था के दौरान सर्दी-जुकाम के कारण |

यह लोकप्रिय धारणा है कि ठंड के मौसम में सर्दी और जुकाम अधिक होता है या पर्याप्त गर्म कपड़े नहीं पहनने से सर्दी-जुकाम जाता है लेकिन ऐसा नहीं है। सर्दी-जुकाम एक छोटे से वायरस की वजह से होता है। ये वायरस 200 से अधिक प्रकार के हो सकते हैं। इन वायरस में ह्यूमन राइनोवायरस, कोरोनावायरस, ह्यूमन पैराइनफ्लुएंजा वायरस(एचपीवी), एडेनोवायरस और श्वसन संक्रमण संबंधी वायरस(आरएसवी) शामिल हैं। इनमें सबसे आम है राइनोवायरस।

-गर्भावस्था के दौरान सर्दी-जुकाम के लक्षण |

  • लगातार छींकना
  • नाक से गले में बलगम जाना
  • शुष्क खाँसी
  • गले में खिचखिंचाहट या खुरदुरापन
  • थकान महसूस करना
  • आँख से पानी आना
  • नाक भरा-भरा लगना
  • थोड़ा बुखार होना |

स्वस्थ्य खान पान 

गर्भावस्था में सर्दी जुकाम से बचने के लिए स्वस्थ्य खान पान लेना चाहिए जैसे फल ,सब्जियां ,नट्स जिससे आपकी प्रतिरोधक क्षमता मजबूत हो और सर्दी जुकाम से लड़ने में मदद मिलें | ध्यान रहे ठंडी गर्म चीजें एक साथ नहीं लेना चाहिए | इससे सर्दी जुकाम होने की ज्यादा संभावना हो जाती है |

👍👍👍

Leave a Comment