उम्र के हिसाब से त्वचा की देखभाल

सुंदरता हमारी त्वचा की गहराई के भी परे है। हमारी त्वचा एक ऐसा माध्यम हैं जहाँ सुन्दरता के भाव दृष्टिगत हो जाते हैं।

हम सभी पदार्थो एवं आत्मा दोनों से बने हुए हैं। इसका तात्पर्य यह हैं कि हमारी त्वचा सिर्फ बाहर से दिखने वाली परत ही नहीं बल्कि जीवन  और क्रियाशीलता से परिपूर्ण है। यह शरीर के अन्य अंगों के सामान एक अंग हैं तथा इसको भी पोषण और स्वस्थता की आवश्यकता है। अधिकतर उपलब्ध सौन्दर्य उत्पाद भौतिक सुन्दरता निखारते हैं परंतु वह यह रहस्य नही उजागर करते कि त्वचा की प्रत्येक कोशिका में कैसे चमक उत्पन्न की जाए और उसको ऊर्जा से कैसे परिपूर्ण किया जाए और प्रभास से भर जाए। चलिए जानते है उम्र के हिसाब से त्वचा की देखभाल करके सुंदर दिखने के तरीके क्या हैं। त्वचा की समस्या हर उम्र के साथ आती हैं त्वचा से सम्बंधित कई समस्याएँ ḷ̥ ये समस्यां क्या हैं और इनके लिए कौन से त्वचा के फायदे के लिए उपचार हैं जिन्हे लेने से त्वचा के लिए फायदे पहुँचते हैं।

Image result for umr ke hisaab se twacha ki dekhbhal pics

 

आइये जानते हैं।

  1. तन और मन दोनों हर वक्त तरोताजा और खूबसूरत बने रहें ,इसके लिए जरुरी है कि कम उम्र से त्वचा पर ध्यान दिया जाये ।
  2. 20 की उम्र से पहले -शरीर में आने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण किशोरावस्था में त्वचा पर काफी प्रभाव पड़ता है। यह वह समय है ,जब त्वचा की देखभाल पर विशेष ध्यान दिया जाना बहुत जरुरी है।

क्या करें ;

  1. इस उम्र में तेज केमिकलयुक्त साबुनों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  2. त्वचा पर प्रितिक्रिया होने के कारण तेल अधिक स्त्रावित होता है ,जिसके कारण ब्लैकहेड्स व् मुहासे होने की संभावना बढ़ जाती है। अगर एक्ने की समस्या है ,तो इसके इलाज़ के लिए बने उत्पादों को केवल प्रभावित हिस्से पर ही लगाएं।
  3. सुबह शाम सौम्य साबुन का प्रयोग करें और पौष्टिक डाइट के साथ आराम भी करे।

त्वचा 20 की उम्र में

इस उम्र में पहुँचत पहुँचते टीनएज हार्मोन्स कम होने लगते हैं। यह उम्र का वह दौर हैं ,जिसमे त्वचा में काफी बदलाव आते हैं। व्यर्थ का तनाव त्वचा के लिए भविष्य में नुक्सान दायक साबित हो सकता है। अक्सर इस अवस्था में त्वचा पर तेल अधिक बनता है,लेकिन 25 साल के बाद त्वचा पर रूखापन आना शुरू हो जाता है | रक्त संचार और त्वचा का रंग इस समय बेहद अच्छा होता है| लेकिन अगर आपको एक्ने की समस्या है,तो दिए गए सुझावों को नहीं अपनाएं|

क्या करें :

  1. त्वचा को सुबह शाम साफ़ करें,टोनिंग करें और नियम से त्वचा को मॉइस्चराइज़ करें
  2. हफ्ते में एक बार त्वचा एक्सफोलिएट जरूर करें |
  3. एक्ने होने पर त्वचा की डीप क्लींजिंग करें| इसे 4-6 हफ्ते तक करें |
  4. इस उपचार में एक ख़ास मास्क इवनिंग प्रिमरोज व रोज़मर्री लीफ आयल से तैयार किया जाता है |
  5. हमेशा सनस्क्रीन लगाकर रखें |
  6. लेज़र से त्वचा पर बालों को किसी भी उम्र में हटाया व काम किया जा सकता है |

त्वचा 30 की उम्र में

इस उम्र तक आते आते बदलती जीवनशैली का असर त्वचा पर भी आने लगता है | यही वह समय है जब उम्र अपने निशान त्वचा पर छोड़ने लगती है| इस उम्र तक पहुँचने पर आँखों,मुँह और माथे पर लकीरे पड़ने लगती है |

क्या करें :

  1. त्वचा की देखभाल में थोड़े बदलाव लाने होंगे,क्योंकि त्वचा में पहले की तरह कसाव कम हो जाता है और वह रूखी हो जाती है |
  2. तैलिये त्वचा है और झुर्रियां पड़ने लगी हैं,तो सतर्क हो जाएँ |
  3. कभी कभी मुहांसे निकलना आम बात है लेकिन बार बार ऐसा न हो,ध्यान रखें |
  4. इस उम्र में चेहरे पर टी जोन बनने लगता है यानि माथे,नाक और ठोड़ी की त्वचा तैलीय व बाकी हिस्से की त्वचा शुष्क  होने लगती है | ऐसे में त्वचा को नमी चाहिए |
  5. रूखे मौसम में सामान्य से रूखी त्वचा होने पर नाइट क्रीम इस्तेमाल में लें |
  6. अगर शुरुआत में सन ब्लॉक क्रीम का इस्तेमाल न किया जाये तो 30 की उम्र तक त्वचा को ज्यादा नुक्सान पहुँचता हैं |
  7. विटामिन ए व सी जैसे एंटी ऑक्सीडेंट्स व बीटा कैरोटीन लें | ये त्वचा को पहुँचने वाली क्षति को ठीक करके त्वचा की रक्षा करते हैं |

त्वचा 40 की उम्र में

इस उम्र में चेहरे पर लकीरे गहराने लगती हैं,खास तौर पर माथे,आँखों और मुंह के आसपास | त्वचा में कसाव कम होने लगता है | सन स्पॉट्स व ऐज स्पॉट्स 45 की उम्र के बाद भी उभर सकते हैं | अगर आपकी त्वचा शुरू में तैलीय हुआ करती थी,तो बहुत सम्भव है इस वक्त आपकी त्वचा मिलीझुली हो |

क्या करें :

  1. कोलोजन फेशियल लें | त्वचा पुनर्जीवित होगी |
  2. त्वचा नॉन सर्जिकल फेस लिफ्ट कराएं | बढ़ती उम्र के साथ चेहरे और गर्दन की मांसपेशियां लटकने से लकीरें और झुर्रियां पड़ने लगती हैं |
  3. त्वचा को मुलायम बनाने के लिए उपचार लें | इसमें पैराफिन वैक्स से त्वचा की नमी को बरकरार रखा जाता है |
  4. नाइट व आइस क्रीम का इस्तेमाल शुरू कर दें | त्वचा को ज्यादा एक्सफोलिएट न कराएं |

त्वचा 50 की उम्र में

50वे साल में कदम रखते रखते त्वचा सामान्य,मिलीजुली या रूखी हो जाती है और त्वचा में तैलीयता नहीं के बराबर रह जाती है | आँखों के चारो तरफ नाक,मुंह और गर्दन पर लकीरें उभरने लगती हैं | पलकों पर भी उम्र की लकीरें अपने निशान छोड़ने लगती है | हमारे रहनसहन,मेडिकेशन और शरीर में आने वाले जैविक बदलावो से भी झुर्रियां समय से पहले उभर सकती हैं,चाहे त्वचा की देखभाल ही क्यों न की गयी हो |

क्या करें :

  1. त्वचा को एक्सफोलिएट करें या फेसिअल मसाज कराएं |
  2. आपकी उम्र कोई भी क्यों न हो ,त्वचा पर नियम से सनस्क्रीन लगाएं और ढेर सारा पानी पियें |

त्वचा 60 की उम्र में

इस उम्र में त्वचा सामान्य व सामान्य से रूखी रहती है | ऐज स्पॉट्स दिखने लगते हैं| त्वचा की बनावट पहले की तरह अच्छी नहीं रहती है | यही वह समय है जब आनुवंशिक कारणों व उम्र के शुरूआती दौर में त्वचा का ध्यान न रखा जाने के कारण त्वचा पर इसका प्रभाव साफ़ दिखाई देने लगता है | इस उम्र में नाखून और बाल भी कम बढ़ते हैं | अगर कम उम्र में आपकी त्वचा तैलीय थी,तो बहुत सम्भव है की इस उम्र में झुर्रियां रूखी त्वचावालों के मुकाबले कम दिखाई देगी |

क्या करें :

  1. त्वचा को एक्सफोलिएट करें और फेशियल मसाज कराएं |
  2. आपकी उम्र कोई भी क्यों न हो ,त्वचा पर नियम से सनस्क्रीन लगाए और ढेर सारा पानी पियें |

Leave a Comment